नेस्ले सेरेलैक में मिले कीड़े और मरा चूहा,खाकर बच्चे की तबीयत बिगड़ी

Food
https://www.dna24.in

छोटे बच्चों की खाद्य पदार्थ बनाने वाली सेरेलैक कंपनी की बड़ी लापरवाही सामने आई है। अमेठी जिले के कमरौली थाना क्षेत्र के मोती शुक्ल का पुरवा गांव में प्रतिष्ठित कंपनी नेस्ले के उत्पाद सेरेलैक के पैकेट में बड़ी संख्या में जीवित कीड़े व एक मृत चूहा मिलने का मामला सामने आया है।मेडिकल स्टोर से सेरेलैक खरीद कर लाए युवक ने जब पैकेट खोल कर अपने बच्चे को खिलाया तो बच्चे की लबीयत बिगड़ने लगी।जिसके बाद पैकेट खोलकर देखा तो घरवालों के होश उड़ गए । सेरेलैक के पैकेट में रेंगते हुए कीड़े और मरा हुआ चूहा मिला। जिस पर युवक ने कंपनी पर कार्यवाही करने के लिए मीडिया के माध्यम से गुहार लगाई। परिजनों को मामले की जानकारी तब हुई जब सेरेलैक खाने से बच्ची की तबीयत बिगड़ गई। परिजन मामले में कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

गांव निवासी प्रेमनाथ शुक्ल ने सोमवार को अपनी नातिन के लिए जगदीशपुर के एक मेडिकल स्टोर से नेस्ले कंपनी का सेरेलैक खरीदा और बिल लिया। पैकेट बंद सेरेलैक लेकर वे देर शाम घर पहुंचे। प्रेमनाथ ने पैकेट घर में दिया तो परिजनों ने पैकेट खोलकर थोड़ी मात्रा में सेरेलैक बच्ची को खिलाया। सेरेलैक खाते ही बच्ची को उल्टी हो गई। उस समय परिजनों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। मंगलवार सुबह जब बच्ची को दोबारा सेरेलैक दिया गया तो वह फिर उल्टी करने लगी। सेरेलैक खाने से बच्ची को उल्टी करते देख परिवार वालों ने पैकेट को पूरा खोला तो उसमें बड़ी संख्या में छोटे बड़े कीड़े और एक मृत चूहा मिला।

सेरेलैक के पैकेट व अंदर मिले कीड़ों व चूहे का वीडियो बनाने के बाद आनन-फानन दुकान पर पहुंचे जहां से सेरेलैक लिया था। दुकानदार ने पैकेट पर एक्सपायरी डेट देखी तो उस पर दिसंबर 2021 अंकित था।

दुकानदार ने प्रेमनाथ से कहा कि इसमें उसकी कोई गलती नहीं है। प्रेमनाथ ने पूरे प्रकरण का वीडियो व बयान सोशल मीडिया पर वायरल कर कंपनी के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *