चक्रवात टाक्टे का दर्दनाक मंजर, पी-305 के लापता लोगों में 26 के शव मिले

India
https://www.dna24.in

भारतीय नौसेना और तटरक्षक बलों ने मुंबई के पास अरब सागर में फंस गए दो बजरों पर मौजूद 317 लोगों को बचा लिया है। लेकिन, 390 और लोग अब भी लापता हैं। चक्रवात टाक्टे अपने पीछे मौत और भारी तबाही का दर्दनाक मंजर छोड़ गया है। मुंबई हाई के बीच समुद्र में डूबे बजरे से लापता लोगों के जहां बुधवार को 26 शव निकाल गए वहीं गुजरात में तूफान के कारण अब तक 45 लोगों की जान जाने की पुष्टि हो चुकी है। प्रधानमंत्री ने बुधवार को गुजरात और दीव में तूफान के कारण हुए नुकसान का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने बजरे पर फंसे लोगों की तलाश में चलाए जा रहे अभियान की भी जानकारी ली। पीएम ने टाक्टे तूफान के कारण सभी राज्यों के मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की सहायता की घोषणा भी की।

मुंबई तट से चक्रवात के टकराने के बाद गहरे समुद्र में तेल रिग (तेल या गैस उत्खनन क्षेत्र) और बजरों (एक प्रकार की संरचना) में फंस गए 500 से अधिक लोगों को निकालने के लिए सोमवार को नौसेना के जहाज, टग बोट (खींचने वाली नौका) और बचाव जहाज लगाये गए थे। बचाव काम अभी भी जारी है। चक्रवात की वजह से एक बजरा डूब गया जिसमें अपतटीय क्षेत्र में कार्यरत कर्मियों के लिए क्वार्टर थे। दो अन्य बजरे के लंगर से हटकर समुद्र में दूर चले गए। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जब चक्रवात आया तब इन तीन बजरों में 599 कर्मी थे। ओएनजीसी का ‘सागर भूषण’ नामक एक ड्रिलिंग रिग भी अपने स्थान से दूर चला गया। उसमें ओएनजीसी के 37 कर्मी और 64 अनुबंधित कर्मी सवार थे

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *