Covid19: रूस की वैक्सीन Sputnik V को केंद्र सरकार ने दी मंजूरी, भारत को मिलेगा तीसरा टीका

Food India Lifestyle Travel World
https://www.dna24.in

कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बाद अब रूस की स्पुतनिक-वी वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को भी हरी झंडी मिल गई है। स्पुतनिक-वी को मंजूरी मिलने से देश में कोरोना वैक्सीन की कमी को काफी हद तक दूर करने में मदद मिलेगी। सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (एसईसी) ने तीसरे फेज के ट्रायल में स्पुतनिक-वी के पूरी तरह सुरक्षित और संक्रमण रोकने में कारगर पाए जाने के बाद इसे मंजूरी दी है। अब केवल दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआइ) की हामी का इंतजार है।

रूस के गेमालिया इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित स्पुतनिक-वी का भारत में 1,600 लोगों पर तीसरे फेज का ट्रायल किया गया। इसके पहले रूस में 19,866 लोगों पर इसका तीसरे फेज का ट्रायल हुआ है। भारत में भी ट्रायल के नतीजे रूस जैसे ही मिले हैं। वैक्सीन को कोरोना संक्रमण को रोकने में 91.6 फीसद तक कारगर पाया गया। इस नतीजे के साथ इसे दुनिया में कोरोना के खिलाफ सबसे प्रभावी वैक्सीन माना जा रहा है। अभी तक दुनिया के कुल 59 देश इस वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत दे चुके हैं। रूस में पिछले साल अगस्त से ही इसका प्रयोग किया जा रहा है।

द रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड (आरडीईएफ) ने भारत में इस वैक्सीन के उत्पादन और उपयोग के लिए पिछले साल सितंबर में डॉ. रेड्डीज लेबोरेटरीज से समझौता किया था। इसके अलावा आरडीईएफ ने यहां वीरशॉ बायोटेक, स्टेलिस बायोफार्मा और पानासिया बायोटेक के साथ भी वैक्सीन उत्पादन के लिए समझौता किया है। वीरशॉ बायोटेक 20 करोड़ डोज, स्टेलिस बायोफार्मा 20 करोड़ और पानासिया बायोटेक 25 करोड़ डोज सालाना का उत्पादन करेंगे। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इजाजत मिलने के कितने दिन बाद स्पुतनिक-वी की सप्लाई शुरू हो जाएगी।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *