बापू भवन में गोलीकांड के बाद CM योगी का सख्त रूख

Crime Uttar Pradesh
https://www.dna24.in

लखनऊ: 30 अगस्त को बापू भवन (सचिवालय) के 8वें फ्लोर के कमरा नंबर 824 में निजी सचिव विशंभर दयाल ने खुद को गोली मार ली थी। हाई सिक्योरिटी जोन सचिवालय में निजी सचिव के खुद को गोली मारने के बाद यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को सख्त है। उन्होंने सचिवालय की सुरक्षा पर उठे सवालों पर सुरक्षा को और बेहतर करने को कहा। सीएम ने कहा कि जब किसी को बाबू भवन परिसर में असलहा ले जाना मना था, तो निजी सचिव विशंभर रिवाल्वर लेकर अंदर कैसे गए? यह सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गंभीर सवाल है। इसकी समीक्षा की जाए। साथ ही दोषियों पर एक्शन लिया जाए।

संवेदनशील शासकीय कार्यालयों की सुरक्षा व्यवस्था को करें पुख्ता
सीएम योगी ने सचिवालय समेत सभी संवेदनशील शासकीय कार्यालयों की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने की बात कही है। निर्देश दिए हैं कि सभी संवेदनशील सरकारी कार्यालयों में असलहा लेकर किसी को भी प्रवेश न दिया जाए। इसके साथ ही सीएम योगी ने अपर मुख्य सचिव गृह, एडीजी कानून-व्यवस्था व सचिवालय प्रशासन के साथ सुरक्षा व्यवस्था की गहन समीक्षा कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

साथ ही सरकारी कार्यालयों में पान-मसाला, गुटखा, तंबाकू पर सख्ती से प्रतिबंध लगाने को कहा है। शासकीय कार्यालयों के बाहर व अंदर परिसर में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए।

सोमवार यानि 30 अगस्त को बापू भवन (सचिवालय) के 8वें फ्लोर के कमरा नंबर 824 में निजी सचिव विशंभर दयाल ने खुद को गोली मार ली थी। विशंभर का राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज चल रहा है। डॉक्टर के मुताबिक, संस्थान के डॉक्टरों की टीम ने करीब 4 घंटे चले ऑपरेशन के बाद उनके सिर में लगी गोली को निकाल ली थी। अभी निजी सचिव विशंभर दयाल अभी भी कोमा में है। मंगलवार (31 अगस्त) से कुछ सुधार हुआ है। उनके चेहरे की सूजन कम हुई है। उनका ICU में इलाज चल रहा है।

सुसाइड नोट में बहन के ससुराल को ठहराया जिम्मेदार, IG ने दरोगा समेत 2 को किया था सस्पेंड
बापू भवन में आत्महत्या के प्रयास के बाद पुलिस को घटनास्थल से पुलिस को मौके से सुसाइड नोट मिला था। जिसमें उन्होंने बहन के ससुराल वालों से विवाद के चलते उन्‍नाव के थाना औरास में उन पर लिखे मुकदमे में सही कार्रवाई न होने का जिक्र था। जिसकी पुष्टि उनकी पत्नी गीता ने भी की थी। इसके बाद IG रेंज लखनऊ लक्ष्‍मी सिंह ने जांच के आधार पर औरास थाने पर तैनात दरोगा तमीजुद्दीन और थाना प्रभारी हरप्रसाद अहिरवार को सस्पेंड कर दिया था।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *