सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- कोरोना काल में तेजी से बढ़ा योग का महत्व

Lifestyle World
https://www.dna24.in

नई दिल्ली, एएनआइ। International Yoga Day 2021, सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि COVID-19 के दौरान योग की प्रासंगिकता बढ़ी है। उन्होंने कहा कि योग ने इस दौरान लोगों को शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद की है। यहां महाराजा अग्रसेन पार्क में योग करने के बाद हर्षवर्धन ने कहा- कोविड-19 के दौरान योग की प्रासंगिकता बढ़ी है। योग ने हमें अपने शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद की है।

उन्होंने कहा कि हमें योग या अन्य शारीरिक गतिविधियों को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए। ये हमें कोरोना वायरस के खिलाफ अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करेंगे। उन्होंने कहा- मैं आपको विश्वास दिलाता हूं, योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें, यह आपके शरीर की तात्कालिकता और आंतरिक शक्ति को बढ़ाएगा, यह आपको कोविड के खिलाफ लड़ाई में और ताकत भी देगा।

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना को लेकर लोगों को सतर्क भी किया। उन्होंने कहा कि कोविड की दूसरी लहर की लड़ाई में हम धीरे-धीरे सफलता की ओर बढ़ रहे हैं, हमें बिल्कुल भी लापरवाह नहीं होना है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर हम फिर से लापरवाह होकर आराम करेंगे तो फिर से कोविड के और भी कई मामले सामने आ सकते हैं। डॉ. हर्षवर्धन ने यह भी कहा कि आज से प्रत्येक सरकारी स्वास्थ्य केंद्र में 18 साल से अधिक उम्र के प्रत्येक नागरिक को मुफ्त टीका उपलब्ध कराया जाएगा।

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि योग ने दुनिया भर के लोगों को चल रही कोविड महामारी के बीच आशा की एक किरण प्रदान की है। पीएम मोदी ने कहा कि COVID-19 महामारी के बीच योग आशा की एक किरण है क्योंकि पिछले दो वर्षों में योग के प्रति उत्साह केवल बढ़ा है। इस वर्ष, इस अवसर का विषय ‘योग फॉर वेलनेस’ है, और यह शारीरिक और मानसिक कल्याण के लिए योग का अभ्यास करने पर केंद्रित होगा।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *