स्वच्छ पखवाड़े में भारतीय मानक ब्यूरो को प्रथम पुरस्कार मिला

India
https://www.dna24.in

नयी दिल्ली, 09 फरवरी: पेयजल और स्वच्छता विभाग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, उपभोक्ता मामलों के विभाग और इसके प्रशासनिक नियंत्रण वाले सभी संगठनों, जैसे भारतीय मानक ब्यूरो, राष्ट्रीय परीक्षण शाला , रांची स्थित भारतीय विधिक माप विज्ञान संस्थान और मानक ब्यूरो की पांच क्षेत्रीय प्रयोगशालाओं की ओर से 16 से 28 फरवरी, 2021 तक स्वछता पखवाड़ा मनायागया। उपभोक्ता मामलों के सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अधीनस्थ संगठनों के साथ इसके पहले एक बैठक की थी और विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से पखवाड़ा मनाए जाने के लिए उनसे एक कार्य योजना तैयार करने को कहा था। उनके आदेश के अनुसार पखवाड़े के दौरान आयोजित की जाने वाली विभिन्न गतिविधियों को सूचीबद्ध करते हुए एक कार्य योजना तैयार की गई।

16 फरवरी 2021 को सुबह 11 बजे एक शपथ समारोह आयोजित किया गया जिसमें सचिव (सीए) ने सभी को स्वच्छ भारत की शपथ दिलाई। लोगों को स्वच्छता के प्रति उनकी जिम्मेदारियों से अवगत कराने के लिए कृषि भवन, शास्त्री भवन और जामनगर हाउस में विभाग के कार्यालय परिसर के प्रमुख स्थानों पर बैनर और पोस्टर लगाए गए। बैनरों को विभाग की वेबसाइट पर भी लगाया गया।

पखवाड़े के महत्व और कार्य स्थलों तथा उनके आसपास के क्षेत्रों में स्वच्छता के बारे में आम लोगों को जागरूक करने के लिए, ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे विभाग के सोशल मीडिया हैंडल पर नियमित रूप से पोस्ट / फोटो / वीडियो अपलोड किए गए। कोविड-19 के कारण उत्पन्न स्थिति को ध्यान में रखते हुए कर्मचारियों को मास्क, सैनिटाइज़र और स्वच्छता से संबंधित अन्य उत्पाद वितरित किए गए। कागज, प्लास्टिक और ई-कचरे के सुरक्षित निपटान के लिए एक विशेष सफाई अभियान चलाया गया। स्वच्छ्ता और स्वच्छ भारत- ई- कचरा प्रबंधन पर दो लघु फिल्में प्रदर्शित की गईं। इसके अलावा, विभाग के कर्मचारियों के लिए 23 फरवरी 2021 को स्वच्छ भारत की थीम पर एक निबंध लेखन और कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। विभागीय रिकॉर्ड रूम सहित विभिन्न प्रभागों में पुराने अभिलेखों की समीक्षा के बाद उनकी छंटाई की गई। विभिन्न विभागों तथा सेक्शनों का निरीक्षण किया गया और वहां लोगों को स्वच्छता के बारे में जागरुक किया गया।

भारतीय मानक ब्यूरो, राष्ट्रीय परीक्षण कार्यशाला, रांची स्थित भारतीय विधिक माप विज्ञान संस्थान और ब्यूरो की क्षेत्रीय मानक प्रयोगशालाओं ने भी विभिन्न गतिविधियों के साथ स्वछता पखवाड़ा मनाया। इस दौरान सभी कर्मचारियों द्वारा स्वछता की शपथ ली गई, पुरानी फाइलों की समीक्षा की गई और छंटाई के बाद जो बेकार थीं उन्हें हटाया गया। पुराने फर्नीचरों की भी छंटाई की गई और जो बेकार पाए गए उन्हें निकाल दिया गया। नारे लिखने ,पोस्टर बनाने और ऐसी ही अन्य प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। मानक ब्यूरो के विभिन्न क्षेत्रीय कार्यालयों के परिसर में पौधे लगाए गए। सोशल मीडिया का भरपूर इस्तेमाल स्वछता से जुड़ी गतिविधियों के प्रचार के लिए किया गया। कर्मचारियों को एकल उपयोग वाले प्लास्टिकों का इस्तेमाल कम से कम करने की जरुरत बताई गई। राष्ट्रीय जांच कार्यशाल ने पर्यावरण के लिए एकल उपयोग प्लास्टिक के हानिकारक प्रभावों और पर्यावरण पर स्वछता के लाभों के बारे में जनता के लिए शिविर जैसी अभिनव गतिविधियाँ चलाईं। मानक ब्यूरो के कार्यालयों में स्वच्छ भारत अभियान के तहत विशेष सफाई अभियान और पोस्टरों का प्रदर्शन किया गया। आरआरएसएल, भुवनेश्वर ने स्वच्छता, और आसपास के आवासीय कॉलोनियों में बैग / पॉलिथीन जैसे एकल उपयोग प्लास्टिक के उपयोग के बुरे प्रभावों पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया और झुग्गी बस्ती के लोगों के बीच साबुन और मास्क वितरित किए। आरआरएसएल, बेंगलुरु ने कचरा बिल्कुल नहीं को बढ़ावा देने के लिए कार्यालय में एक खाद इकाई बनाने का काम शुरू किया।

विभिन्न मापदंडों के आधार पर सभी संगठनों का मूल्यांकन किया गया और इसके बाद पेयजल और स्वच्छता विभाग द्वारा प्रायोजित प्रथम ,द्वितीय और तृतीय पुरस्कार क्रमश भारतीय मानक ब्यूरो, राष्ट्रीय जांच कार्यशाला और आरआरएसएल भुवनेश्वर के लिए घोषित किए गए। इन पुरस्कारों की घोषणा सचिव की ओर से पखवाड़े के दौरान हासिल की गई उपलब्धियों की समीक्षा के लिए 9 मार्च 2021 को आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस में की गई।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *