लखनऊ : समीक्षा अधिकारी फरार गैर जमानती वारंट जारी

Crime
https://www.dna24.in

पशु पालन विभाग में टेंडर दिलाने के नाम पर ठगी के मामले में लंबे समय से फरार चल रहे समीक्षा अधिकारी उमेश मिश्र के खिलाफ शनिवार को पुलिस को कोर्ट से एनबीडब्ल्यू मिल गया। इसके साथ ही उमेश मिश्रा की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश डाली जा रही है। वहीं इसी मामले में निलंबित डीआईजी अरविंद सेन ने भी कोर्ट में सरेंडर के लिए अर्जी लगाई है।

कारोबारी मंजीत सिंह भाटिया उर्फ रिंकू को पशु पालन विभाग में 292 करोड़ रुपये का टेंडर दिलाने के नाम पर 9.72 करोड़ रुपये ठगे गए थे। इसके लिए आरोपितों ने विधानभवन के एक कमरे का इस्तेमाल किया था। इस मामले में  पीड़ित ने 13 जून 2020 को हजरतगंज कोतवाली में आशीष राय, मोंटी गुर्जर, रूपक राय, संतोष मिश्र, एके राजीव, अमित मिश्रा, उमाशंकर तिवारी, रजनीश दीक्षित, डीबी सिंह, अरुण राय, अनिल राय, धीरज कुमार और उमेश मिश्र के रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। 10 सितंबर 2020 को एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने इस मामले में चार्जशीट दाखिल की थी।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *