भाजपा सरकार ने कृषि कानूनों को संसद में जबरन पास कराकर किसानों के साथ अपनी क्रूरता का परिचय दिया: मसूद अहमद

Politics
https://www.dna24.in

लखनऊ, 09 मार्च: राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 मसूद अहमद ने कहा कि केन्द्र की किसान विरोधी भाजपा सरकार ने कृषि सम्बन्धी काले कानूनों को संसद में जबरन पास कराकर देश के इतिहास में किसानों के साथ अपनी क्रूरता का परिचय दिया है। देशभर के किसान 102 दिनों से लगातार दिल्ली के सभी बार्डरों पर तथा देष के विभिन्न हिस्सों में आन्दोलनरत् हैं परन्तु पूंजीपतियों के हितों में सर झुकाने वाली सरकार ने किसानों के साथ वार्ता के नाम पर केवल भददा मजाक किया है। किसानों की आय दुगुनी करने का लाॅलीपाप दिखाने वालों ने विगत चार वर्षो से गन्ने का मूल्य एक रूपया भी नहीं बढ़ाया जबकि लागत मूल्य दुगुना हो चुका है। यहां तक कि गन्ना किसानों का विगत सत्र का गन्ना मूल्य लगभग 15000 करोड रूपया बकाया है और नये सत्र का गन्ना भी बिना भुगतान पाये गन्ना किसान मिलों तक गन्ना पहुंचाने के लिए मजबूर हैं।

डाॅ0 अहमद ने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी लगातार किसान पंचायतों के माध्यम से समस्त उ0प्र0 में किसानों के हितों की रक्षा के लिए संघर्षरत् हैं। देश की गूंगी बहरी और अडानी अम्बानी के लिए कालीन बिछाने वाली सरकार को निरंतर हमारे युवा नेता जगाने का काम कर रहे हैं और काले कृषि कानूनों को रदद करने तथा किसान हितों की रक्षा में अपना तन मन धन समर्पित करने का संकल्प ले चुके हैं। केन्द्र सरकार के प्रतिनिधियों के द्वारा समय समय पर किसानों को खालिस्तानी और आतंकवादी जैसे शब्दों से अपमानित करने का कुत्सित प्रयास किया गया है जिसे किसान तो क्या देश की जनता कभी माफ नहीं करेगी।

रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में सम्पन्न हो रही किसान पंचायतों की कड़ी में ही दिनांक 15 मार्च को जनपद अम्बडेकरनगर के टाण्डा तहसील में अकबरपुर टाण्डा मार्ग स्थित इनामियापुर बाग में एक किसान महापंचायत का आयोजन किया गया है जिसमें किसानों और युवाओं के हृदय की धड़कन जयंत चैधरी मुख्य अतिथि होंगे। इसके बाद बरेली में 17 मार्च तथा प्रयागराज में 20 मार्च को किसान पंचायत आयोजित होंगी। इन पंचायतों में केन्द्र और प्रदेश की डबल इंजन की सरकारों के किसान विरोधी चरित्र को उजागर किया जायेगा।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *