परीक्षा के तनाव से निपटने का नमो मंत्र….परीक्षा पर चर्चा

Tech
https://www.dna24.in

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम के तहत बच्चों से बातचीत की पीएम ने कहा उम्मीद है कि परीक्षा की तैयारी अच्छी चल रही होगी| यह पहला वर्चुअल प्रोग्राम है हम डेढ़ साल से corona के साथ जी रहे हैं मुझे आप लोगों से मिलने का लोभ छोड़ना पड़ रहा है| नए फॉर्मेट मैं आपके बीच आना पड़ रहा है| आप से ना मिलना या मेरे लिए बहुत बड़ा लॉस है फिर भी परीक्षा तो है ही| प्रधानमंत्री मोदी ने कहा जब आप डर की बात करते हैं तो मुझे भी डर लग जाता है, क्या पहली बार एग्जाम देने जा रहे हैं, कैसा डर सब पता है| आप को डरने की जरूरत नहीं आपको डर मै आने का नहीं है| आपके आसपास ऐसा माहौल बना दिया गया है, कि यह सब कुछ है| पेरेंट्स रिश्तेदार पड़ोसी जैसे लोगों ऐसा माहौल बना देते हैं ,कि आपको किसी बड़ी घटना से गुजर ना है| यह ठीक नहीं है, जिंदगी में या कोई आखरी मुकाम नहीं है| यह एक छोटा सा पड़ाव है हमें दबाव नहीं बनाना चाहिए टीचर हो परिवार हो दोस्तों किसी का भी प्रेशर नहीं बनेगा तो कॉन्फिडेंस पड़ेगा| हां हमारे यहां एग्जाम के लिए एक शब्द है कसौटी मतलब खुद को करना है| ऐसा नहीं है कि एग्जाम आखरी मौका है बल्कि एक जाम तो एक प्रकार से एक लंबी जिंदगी जीने के लिए अपने आप को कसने का उत्तम अवसर है| समस्या तब होती है जब हम एग्जाम को ही जैसे जीवन के सपने का अंत मान लेते हैं| जीवन मरण का प्रश्न बना देते हैं| एग्जाम जीवन को गढ़ने का एक अवसर है एक मौका है उसे उसी रूप में लाना चाहिए परीक्षा जीवन को करने का एक अवसर है| उसे उसी रूप में लाना चाहिए हमें अपने आपको कसौटी पर कसने के मौके खोजते ही रहना चाहिए ताकि हम और अच्छा कर सके हमें भागना नहीं चाहिए|

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *