चीन ने बताया, दो महीने बाद अब भारत से किस मुद्दे पर होगी चर्चा

World
https://www.dna24.in

चीन ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख में अप्रैल 2020 की यथास्थिति की बहाली के लिए भारत के प्रस्ताव पर दोनों देशों के बीच अगली बैठकों में चर्चा हो सकती है.

इसके साथ ही, चीन ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में संघर्ष वाली शेष जगहों से सैनिकों की वापसी पर भारत के साथ वार्ता करने में कोई देरी नहीं की जा रही है.

ख़बरों के अनुसार दोनों सेनाओं के कोर कमांडरों की बैठक शुक्रवार को हो सकती है जिसमें पूर्वी लद्दाख के संघर्ष वाले शेष स्थानों (जैसे गोगरा, हॉट स्प्रिंग्स और डेपसांग) से सैनिकों की वापसी पर चर्चा भी की जा सकती है.

गुरुवार को भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि 12 मार्च को हुई डब्ल्यूएमसीसी की बैठक में दोनों पक्ष इस पर राज़ी हुए थे कि 11वें दौर की कोर कमांडर स्तर की बैठक आयोजित की जायेगी. उनके अनुसार, यह बैठक शुक्रवार को होनी है.

लेकिन चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि आगामी वार्ता के लिए एक ख़ास तारीख़ की उन्हें कोई जानकारी नहीं है.

चीन और भारत के बीच कोर कमांडर स्तर की 11वें दौर की बैठक होनी तय बताई जा रही है.

हालांकि, इसकी तारीख़ के बारे में पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कहा कि चीन और भारत 11वें दौर की वार्ता आयोजित करने के लिए संपर्क में हैं.

20 फ़रवरी को, भारतीय और चीनी सेना ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव को कम करने के लिए 10वें दौर की सैन्य वार्ता की थी.

दोनों देशों के बीच सैन्य गतिरोध को अब लगभग दस महीने हो गए हैं. समझौते के बाद दोनों पक्षों ने पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर वाले क्षेत्रों से अपने-अपने सैनिकों को वापस बुला लिया है.

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *