गोरखपुर के टाउनहाल मैदान में कल से शुरू हो रही रेडीमेड गारमेंट प्रदर्शनी

India
https://www.dna24.in

गोरखपुर, 14 मार्च: गोरखपुर रेडीमेड गारमेंट्स सेक्टर का हब बनने के लिए सोमवार से एक कदम और आगे बढ़ने जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर जिले के दूसरे ओडीओपी उत्पाद के रूप में शामिल रेडीमेड गारमेंट्स के स्थानीय उत्पादों की सप्ताहभर की कल 15 मार्च से शुरू हो रही प्रदर्शनी इस उद्योग को बढ़ावा देने के लिए बड़ा प्लेटफार्म उपलब्ध कराएगी। इस दौरान स्थानीय उद्यमियों को केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय की संस्था निट्रा उत्पादन, डिजाइन की नई प्रविधियों और निर्यात की संभावनाओं पर प्रशिक्षण भी देगी। अगर आप इस सेक्टर में यूनिट लगाने के ख्वाहिशमंद हैं तो अनुदानित लोन समेत तमाम जानकारियां भी यहां आपके इंतजार में हैं। रेडीमेड गारमेंट की प्रदर्शनी की तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं और उम्मीद जताई जा रही है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 20 मार्च को अपने प्रस्तावित गोरखपुर दौरे के दौरान प्रदर्शनी में पहुंच उद्यमियों का उत्साहवर्धन कर सकते हैं।

गोरखपुर नब्बे के दशक तक हैंडलूम उत्पादों का बड़ा केंद्र हुआ करता था। सरकारों की अनदेखी के कारण यह सेक्टर बदहाल होने लगा तो यहां का सेक्टर से जुड़े बहुतेरे कारीगर दिल्ली, सूरत, लुधियाना जाकर रेडीमेड गारमेंट्स की फैक्ट्रियों में सिलाई का काम करने लगे। 1998 से लेकर 2017 तक गोरखपुर के सांसद के रूप में योगी आदित्यनाथ हमेशा हैंडलूम से जुड़े बुनकरों का मुद्दा लोकसभा में उठाते रहे। 2017 में प्रदेश की कमान संभालने के बाद उन्होंने बुनकरों की बदहाली दूर करने के साथ ही यहां रेडीमेड गारमेंट्स सेक्टर की व्यापक संभावनाओं का रोडमैप भी तैयार कराया। सीएम योगी की पहल पर रेडीमेड गारमेंट्स को टेराकोटा के बाद रेडीमेड गारमेंट्स को गोरखपुर की एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना में शामिल किया गया है। इस योजना के तहत बीते कुछ महीनों में रेडीमेड गारमेंट्स की यूनिट जिले में तेजी से लगने लगीं हैं।

बढ़ी उद्यमियों की दिलचस्पी, बनने जा रहा गारमेंट पार्क

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर को रेडीमेड गारमेंट्स का हब बनाने की घोषणा कर चुके हैं। उनकी इस घोषणा को अमलीजामा पहनाने के उद्देश्य से गोरखपुर महोत्सव के दौरान 13 जनवरी को गोरखपुर आए अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल ने रेडीमेड गारमेंट्स उद्यमियों के साथ बैठक की थी। उद्यमियों को सरकार की तरफ से हर स्तर पर मदद दिए जाने के साथ ही उन्होंने यहां अलग से गारमेंट पार्क बनाने की बात भी कही थी। इसी के तहत गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) क्षेत्र के भीटीरावत में पचास एकड़ में गारमेंट पार्क बनने जा रहा है।

60 स्टालों पर स्थानीय रेडीमेड गारमेंट्स उत्पादों को मिलेगा मंच, यूनिट लगाने की जानकारी के साथ प्रशिक्षण भी

योगी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ओडीओपी में शामिल रेडीमेड गारमेंट्स को बढ़ावा देने के लिए जिला उद्योग केंद्र की ओर से टाउनहाल मैदान में सात दिवसीय प्रदर्शनी का आयोजन 15 मार्च से किया जा रहा है। यहां 60 स्टालों पर स्थानीय स्तर पर उत्पादित रेडीमेड गारमेंट को बड़ा मंच मिलेगा। लोग उन उत्पादों की जानकारी लेने के साथ ही इनकी खरीदारी भी कर सकेंगे। हाल फिलहाल गोरखपुर में लेगिंग्स, टीशर्ट, शर्ट जींस व होजरी के उत्पाद बनाए जा रहे हैं। प्रदर्शनी में रेडीमेड गारमेंट्स सेक्टर में काम आने वाली मशीनरी का भी प्रदर्शन किया जाएगा। साथ ही यह जानकारी भी दी जाएगी कि ओडीओपी के तहत अनुदानित लोन लेकर कैसे रेडीमेड गारमेंट की यूनिट लगाई जा सकती है। यही नहीं, रेडीमेड गारमेंट्स प्रदर्शनी के दौरान केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय के अधीन कार्यरत नार्दन इंडिया टेक्सटाइल रिसर्च एसोसिएशन (निट्रा) द्वारा उद्यमियों को 17 से 19 मार्च तक प्रशिक्षित भी किया जाएगा। यह प्रशिक्षण रेडीमेड गारमेंट्स के उत्पादन, डिजाइन एवं निर्यात पर केंद्रित होगी।

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *