ऐसे जाने रेमेडीशिविर की जरूरत है या नहीं

Creation Fashion Food Gadget India Lifestyle Tech Travel Uncategorized
https://www.dna24.in

रेमेडीशिविर को घर पर बिल्कुल ना लें| इस दवा के अपने साइड इफेक्ट है और सिर्फ अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए यह दवा एडवाइस की जा रही है| पहले भी कहा गया है रेमेडीशिविर होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों यानी माइल इंफेक्शन या बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए बिल्कुल फायदेमंद नहीं है| बल्कि इसके नुकसान ही हैं इसलिए घर पर रेमेडी शिविर बिल्कुल ना ले|

ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस के डायरेक्टर डॉ रणवीर गुलेरिया ने शुक्रवार को करोना के लक्षणों, होम आइसोलेशन समेत कई अहम पहलुओं पर विस्तार से बात की| उन्होंने विस्तार से समझाया कि होम आइसोलेशन में क्या करें क्या ना करें| रेमेडीशिविर या आईवरमैटीसिन कब तक ले, इनहेलर के फायदे हैं या नहीं ऑक्सीजन की कब जरूरत होगी|डॉक्टर ने यह भी बताया कि वार्निंग साइंस क्या है| यानी ऐसे कौन से संकेत हैं जिससे मरीज में देखने के बाद तत्काल संभलने और अस्पताल का रुख करने की जरूरत होती है| यहां यह बात ध्यान देने की जरूरत है कि खुद डॉक्टर ना बने और सुझाव गई दवाओं का वैसे ही सेवन ना करें इसके लिए डॉक्टर से परामर्श जरूर ले भले ही वह फोन पर ली गई हो या फिर ऑनलाइन कंसल्टेशन हो

https://www.dna24.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *